कोरोना संक्रमण की चैन को तोड़ने के लिये लगाया गया जनता कर्फ्यू का पूरी गंभीरता से पालन सुनिश्चित हो

कोविड के संबंध में कलेक्ट्रेट में अधिकारियों के साथ हुई बैठक

ग्वालियर 05 मई 2021/ कोविड-19 के संक्रमण की चैन को तोड़ने के लिए लागू किए गए जनता कर्फ्यू को पूरी सख्ती के साथ अमल में लाया जाए। प्रतिबंधात्मक आदेशों के क्रियान्वयन में किसी भी प्रकार की ढील न बरती जाए। लॉकडाउन के दौरान शादी समारोह एवं अन्य प्रकार के सभी समारोह पूरी तरह से प्रतिबंधित किए जाएं। महिला एवं बाल विकास विभाग के प्रमुख सचिव एवं ग्वालियर जिले के लिये प्रभारी सचिव श्री अशोक शाह ने यह निर्देश दिए हैं। प्रमुख सचिव महिला एवं बाल विकास श्री अशोक शाह ने बुधवार को कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के लिये किए जा रहे प्रबंधनों की समीक्षा की। बैठक में कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, डीन मेडीकल कॉलेज, नगर निगम आयुक्त श्री शिवम वर्मा, सीईओ स्मार्ट सिटी श्रीमती जयति सिंह, एडीएम श्री रिंकेश वैश्य सहित इंसीडेंट कमाण्डर एवं अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे। प्रमुख सचिव श्री अशोक शाह ने कहा कि कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिये सभी अधिकारी अपनी-अपनी जवाबदारी का निर्वहन पूरी गंभीरता के साथ करें। कोरोना संक्रमण की चैन को तोड़ने के लिये लगाया गया जनता कर्फ्यू का पूरी गंभीरता से पालन सुनिश्चित हो। कर्फ्यू के दौरान लोक परिवहन को प्रतिबंधित किया जाए। इसके साथ ही शादी समारोह एवं अन्य किसी भी प्रकार के समारोह की अनुमति प्रदान न की जाए। किसानों से उपार्जन पर खरीदी की जा रही है। इन केन्द्रों पर भी निर्धारित संख्या से अधिक किसान अपनी उपज लेकर न आएँ, यह सुनिश्चित किया जाए। इसके लिये निर्धारित संख्या में ही एसएमएस के माध्यम से किसानों को बुलाया जाए। प्रमुख सचिव श्री शाह ने कहा कि खरीदी केन्द्रों पर भी सोशल डिस्टेंसिंग, सेनेटाइजेशन की व्यवस्था हो, यह सुनिश्चित करें। इसके साथ ही पुलिस विभाग के अधिकारी भी खरीदी केन्द्रों का निरीक्षण करें। उन्होंने यह भी निर्देशित किया कि उचित मूल्य दुकानों के साथ-साथ विभिन्न बैंकों में भीसोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो, यह सुनश्चित किया जाए। दुकानों और बैंक के बाहर भी गोले बनाकर कार्य कराने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। इसके साथ ही होटलों एवं अन्य संस्थानों से भी खाना एवं नाश्ते की होम डिलेवरी प्रतिबंधित की जाए। प्रमुख सचिव श्री शाह ने बैठक में यह भी निर्देशित किया कि सभी निजी चिकित्सालयों और एम्बूलेंस की दरें निर्धारित कर इन्हें सार्वजनिक किया जाए। दरों से अधिक कोई भी अस्पताल अथवा एम्बूलेंस संचालक वसूली करता है तो उसके विरूद्ध दण्डात्मक कार्रवाई भी की जाए। ग्रामीण क्षेत्रों पर विशेष निगरानी रखें

प्रमुख सचिव श्री अशोक शाह ने ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड-19 के संक्रमण की समीक्षा के दौरान कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड का संक्रमणन फैले, इसके लिये विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि जिन ग्रामों में कोविड के प्रकरण पाए गए हैं उन गाँवों को पूर्णत: बंद करने की कार्रवाई की जाए। इसके साथ ही डोर-टू-डोर सर्वेक्षण कर पीड़ित व्यक्ति तथा उसके परिजनों को भी दवाएँ मुहैया कराने की व्यवस्था की जाए। सभी ग्राम पंचायतों में क्वारंटाइन सेंटर भी स्थापित हों, यह सुनिश्चित किया जाए।

वैक्सीनेशन पर भी दें ध्यान

प्रमुख सचिव श्री शाह ने बैठक में यह भी कहा कि जिले में ऐसा कोई फ्रुंट लाइन वर्कर नहीं बचना चाहिए जिसका वैक्सीनेशन न हुआ हो। प्रथम एवं द्वितीय चरण का वैक्सीनेशन सभी फ्रंट लाइन वर्करों को हो यह सुनिश्चित किया जाए। शासन द्वारा अब 18 वर्ष से अधिक के युवाओं का भी वैक्सीनेशन प्रारंभ हो गया है। जिले में शतप्रतिशत लोगों का वैक्सीनेशन कराने की रणनीति बनाकर कार्य किया जाए। कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने बैठक में ग्वालियर जिले में कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के लिये किए जा रहे प्रबंधनों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कोविड संक्रमण की चैन को तोड़ने के लिये पूरी सख्ती के साथ पुलिस एवं प्रशासन कार्रवाई कर रही है। इसके साथ ही डोर टू डोर सर्वेक्षण का कार्य भी किया जा रहा है। शासन की गाइडलाइन के परिपालन में जिले को कोरोना मुक्त बनाने की दिशा में तेजी से कार्य किया जा रहा है।

 107 total views,  2 views today

Share and Enjoy !

0Shares
0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0