खन्नौधी में अवैध क्लीनिक को किया सील, FIR के लिए लिखा पत्र

राहुल सिंह राणा रिपोर्टर

शहडोल। वैश्विक महामारी में झोलाछाप डाक्टर मरीजों की जान से खिलवाड़ करने से बाज नहीं आ रहे हैं। बिना डिग्री के मरीजों का इलाज कर रहे है। यहीं नहीं इलाज के नाम पर मनमाने पैसे में वसूल रहे हैं। ऐसे ही एक मामले में ग्राम खन्नौधी जनपद गोहपारू में अवैध रूप से क्लीनिक संचालित करने पर खण्ड चिकित्सा अधिकारी द्वारा कार्यवाही करते हुए अवैध क्लीनिक को सील किया गया हैं।
जानकारी अनुसार गुरुवार की देर शाम लगातार मिल रही शिकायतों पर कार्यवाही की गई है। एसडीएम जयसिंहनगर के निर्देश पर ग्राम खन्नौधी में सेन्ट्रल बैंक के पास संचालित श्रीप्रसाद तिवारी द्वारा अवैध क्लीनिक पर कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये थे।
उक्त निर्देश के परिपालन में खण्ड चिकित्सा अधिकारी गोहपारू एवं डॉ अजय पटेल चिकित्सा अधिकारी खन्नौधी, सन्तोष चौधरी फर्मासिस्ट सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र गोहपारू एवं प्रभारी खण्ड विस्तार एल. बी सिंह द्वारा उक्त अवैध संचालित क्लीनिक का निरीक्षण किया गया श्रीप्रसाद तिवारी अवैध क्लीनिक संचालक द्वारा कोई भी क्लीनिक संचालन से संबंधित दस्तावेज प्रस्तुत नहीं किया जा सका एवं 44 अलग-अलग एलोपैथिक दवाइयां बरामद की गयी। जिसे जप्त कर अवैध रूप से संचालित क्लीनिक को सील किया गया।
खण्ड चिकित्सा अधिकारी द्वारा थाना प्रभारी गोहपारू को FIR के लिए लिखा पत्र लिखा गया है। जिसमें अवैध एलोपैथिक क्लीनिक संचालक से प्राप्त 44 प्रकार की एलोपैथिक दवाइयों की सूची देते हुये। श्रीप्रसाद तिवारी के विरुद्ध FIR दर्ज करने को कहा गया हैं।

पिता पुत्र दोनों एक ही धंधे में

वैश्विक महामारी में झोलाछाप डाक्टर मरीजों की जान से खिलवाड़ करने से बाज नहीं आ रहे हैं। बिना डिग्री के मरीजों का इलाज कर रहे है। यहीं नहीं इलाज के नाम पर मनमाने पैसे में वसूल रहे हैं। पिता के साथ पुत्र ने भी जयसिंहनगर जनपद क्षेत्र के मुख्य मार्ग स्थित ग्राम करकी में अपनी दुकानदारी खोल रखी हैं। झोला छाप डाक्टर अभिषेक तिवारी द्वारा अंग्रेजी दवाइयों से धड़ल्ले से उपयोग करते हुए मरीजों का इलाज किया जा रहा हैं। इतना ही नही दोनों पिता पुत्र द्वारा रैपिड टेस्ट भी किया रहा था।
सरकारी अस्पताल में अव्यवस्था के चलते मरीज झोलाछाप डाक्टरों के पास इलाज कराने के लिए मजबूर हैं। ऐसे जयसिंहनगर जनपद क्षेत्र के मुख्य मार्ग स्थित ग्राम करकी में अभिषेक तिवारी क्लिनिक के संचालक बिना लाइसेंस के ही लोगो के अंग्रेजी दवाए कर उनके जान से खिलवाड़ कर रहा था। जो लोगो के लिए घातक हो सकता है। शिकायत के बाद खण्ड चिकित्सा अधिकारी ने कार्यवाही के नाम पर उसे समझाई देते हुए अवैध क्लीनिक बंद करने के निर्देश दिए है।

 52 total views,  2 views today

Share and Enjoy !

0Shares
0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0