कलेक्टर : सीएम हेल्पलाइन का निराकरण न करने पर अधिकारियों का दो दिन का वेतन कटेगा।

Spread the love

मुरैना 07 जनवरी 2022। कलेक्टर श्री बी.कार्तिकेयन ने सीएम हेल्पलाइन की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान अधिकारियों को निर्देश दिये कि सीएम की वीसी में सीएम हेल्पलाइन की समीक्षा सर्वोपरि है। इसमें जिस विभाग की सीएम हेल्पलाइन का निराकरण का प्रतिशत सबसे कम पाया जाये तो उन अधिकारियों का दो-दो दिन का वेतन काटा जायेगा। यह निर्देश उन्होंने शुक्रवार को गूगल मीट के माध्यम से संबंधित अधिकारियों को दिये। गूगल मीट से जुड़े जिला पंचायत के सीईओ श्री रोशन कुमार सिंह, नगर निगम कमिश्नर, पीओ डूडा, समस्त जनपद सीईओ, खाद्य नियंत्रक, सभी जेएसओ, ईपीएचई, एसईएमपीईव्ही, डीईओ, डीपीसी अतिरिक्त सीईओ, एलडीएम, डीपीओ (डब्ल्यूआरडी), लेबर ऑफीसर, ई-डब्ल्यूआरडी, कृषि, उपसंचालक वैटनरी, डीपीओ (प्लानिंग), प्राचार्य हायर एजुकेशन, डीआरसीएस बैठक में गूगल मीट से जुड़े रहे।

कलेक्टर श्री बी.कार्तिकेयन ने कहा कि मुख्यमंत्री की वीसी में मुरैना जिले का परफार्मेंश अच्छा होना चाहिये। मुरैना जिला प्रदेश के अन्तिम बॉटम पर आया तो अधिकारियों की खैर नहीं होगी। उन्होंने अधिकारियों को बारी-बारी से उनके विभाग में लंबित शिकायतों की समीक्षा की। उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिये कि 100 दिवस और दिसम्बर 2021 में प्राप्त होने वाली सीएम हेल्पलाइनों को अधिकारी प्राथमिकता देंवे। इस अवसर पर उन्होंने 10 जनवरी से पहले सीएम हेल्पलाइन निराकरण करने का प्रत्येक अधिकारियों से लक्ष्य भी पूछा।
कलेक्टर ने बताया कि लीड बैंक में 124 पेंडिंग शिकायतें है, इनमें से 25 शिकायतें सोमवार तक निराकृत होनी चाहिये। शिक्षा विभाग को कहा कि सोमवार तक 5, सामाजिक न्याय विभाग को 34 में से 10 शिकायतों का निराकरण करने के निर्देश दिये। वहीं महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा 142 शिकायतों में से 112 निराकरण होना बताया। इसके बाद भी कलेक्टर ने 10 शिकायतें और निराकरण करने के निर्देश दिये। इसी प्रकार डीएसओ को निर्देश दिये कि 489 शिकायतें लंबित है, इनमें से सोमवार तक 100 शिकायतें सहमति के आधार पर बंद होनी चाहिये। कलेक्टर ने जेएसओ जौरा और जेएसओ पहाडगढ़ को 80 शिकायतें, जेएसओ अम्बाह, पोरसा को 15-15 शिकायतें सहमति के आधार पर बंद करने के निर्देश दिये।

कलेक्टर ने 100 दिवस की सीएम हेल्पलाइन की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान 972 शिकायतें समस्त विभागों की लंबित पायी गई है। जिसमें जौरा जेएसओ की 342 शिकायतें लंबित थी। इस पर कलेक्टर ने अप्रशन्नता व्यक्त करते हुये सभी अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिन अधिकारियों ने सोमवार तक स्वेच्छा से सीएम हेल्पलाइन निराकरण करने की संख्या नोट करायी है, वे अधिकारी समय-सीमा में निराकृत नहीं करते है तो उन अधिकारियों का दो-दो दिन का वेतन काटा जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *