ग्वालियर : अधिवक्ता को झूठा फसाना पड़ा भारी,थाना प्रभारी लाइन हाजिर और उपनिरीक्षक अवधेश निलंबित करने के आदेश।

Spread the love

आइसक्रीम बेचने वाले दुकानदार के साथ मारपीट व लूट के प्रकरण में थाना प्रभारी को लाइन हाजिर व उप निरीक्षक को निलंबित कर दिया गया है। पुलिस ने बिना जांच के बाद मारपीट व लूट का प्रकरण दर्ज किया था।

ग्वालियर। 4 अक्टूबर 2021 को इन्दरगंज थाना क्षेत्र स्थित डीडी माल के पास आइसक्रीम का ठेला लगाने वाले नारायण चौरसिया के साथ बदमाशों ने आइसक्रीम के पैसे मांगने पर मारपीट कर लूटपाट कर दी थी। अधिवक्ता योगेश पाल ने दुकानदार को बचाया तो उसके साथ भी हाथापाई कर दी थी। बाद में आदेश किए गए। पुलिस ने योगेश को ही आरोपी बना दिया था।

उक्त मामले में सीसीटीवी फुटेज जांच करने पर पता चला कि जिसे आरोपी बनाया गया है वह बीच बचाव करा रहे थे। न्यायालय के निर्देश पर शुक्रवार को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने इन्दरगंज थाना प्रभारी मिर्जा आसिफ बेग को लाइन हाजिर और उपनिरीक्षक अवधेश कुशवाह को निलंबित करने के आदेश दे दिया है।

आरक्षक को किया बर्खास्त

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने डबरा के आरक्षक अंकुश पाठक को सेवा से बर्खास्त करने के आदेश दिए। बता दें लूट के आरोपी को भगाने में आरक्षक ने मदद की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *