ग़्वालियर : सायबर सेल ने दो माह में खोजे 17 लाख 64 हजार रूपये कीमत के 102 मोबाइल।

Spread the love

ग्वालियर पुलिस की सायबर सेल ने दो माह में खोजे 17 लाख 64 हजार रूपये कीमत के 102 मोबाइल

मोबाइल वापस मिलने पर मोबाइल मालिकों के चेहरे पर लौटी मुस्कान

ग्वालियर। दिनांक 30.03.2022। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ग्वालियर श्री अमित सांघी,भापुसे को मोबाइल गुम होने संबधी आवेदन लगातार प्राप्त हो रहे है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ग्वालियर द्वारा उक्त आवेदनों पर तत्काल कार्यवाही कर उन्हे ट्रेस करने हेतु अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (पूर्व/अपराध) श्री राजेश डण्डौतिया को निर्देशित किया। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अपराध द्वारा सायबर सेल में एक टीम को ग्वालियर जिले से गुम हुये मोबाइलों को ट्रेस कर शीघ्र बरामद करने हेतु लगाया गया।

वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशों के परिपालन में उप पुलिस अधीक्षक अपराध श्री रत्नेश सिंह तोमर एवं श्री नागेन्द्र सिंह सिकरवार के मार्गदर्शन में कार्य करते हुये थाना प्रभारी क्राईम ब्रांच ग्वालियर निरी0 दामोदर गुप्ता एवं प्रभारी सायबर सेल उपनिरीक्षक रजनी सिंह रघुवंशी द्वारा मोबाइल गुम होने संबधी प्राप्त आवेदनों पर त्वरित कार्यवाही करने हेतु सायबर सेल की टीम को लगाया गया। सायबर सेल टीम द्वारा उक्त आवेदनों पर कार्यवाही करते हुये विभिन्न कम्पनियों के मोबाइलोें को टेªस कर बरामद किया गया।

सायबर सेल की टीम ने माह फरवरी-मार्च 2022 में लगभग 17 लाख 64 हजार रूपये कीमत के 102 मोबाइल बरामद किये जोकि एप्पल, ओपो, वनप्लस, सेमसंग, वीवो, टेक्नो, रेडमी, रीयलमी, एमआई, आषुश, माईक्रोमैक्स, इनफिनिक्स, मोटोरोला आदि कंपनियों के है। जिनको आज दिनांक 30.03.2022 को पुलिस कन्ट्रोल रूम सभागार में आयोजित कांफ्रेंस मेें ग्वालियर पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों व सायबर सेल की टीम द्वारा मोबाइल मालिकों को सुपुर्द किया गया।

बरामद किये गये उक्त मोबाइल वर्तमान भारतीय थल सेना एवं वायू सेना में तैनात जवानों के साथ-साथ भूतपूर्व सैनिकों, सफाईकर्मी, माली, खिलाड़ी, छात्रों, मजदूरों, गृहणियों तथा पुलिस कर्मचारियों आदि के थे। इनमे से कुछ आवेदक ऐसे भी थे जो कि पुनः मोबाइल खरीद ही नही पाये। मोबाईल मिलने पर जम्मू कश्मीर मे तैनात सेना के जवान ने पुलिस अधिकारियों से अपने विचार व्यक्त करते हुए बताया कि वह एक माह पूर्व छुट्टी पर आया था तभी मेरा मोबाईल कहीं गुम हो गया था आज सायबर सेल द्वारा मेरे वापस पोस्टिंग पर जाने से पूर्व मुझे वापस दिलवा दिया गया है।

इसी क्रम में माली का काम करने वाले एक व्यक्ति ने कहा कि वह घर-घर जाकर माली का काम करता है और एक-एक रूपये जोड़कर उसने यह मोबाईल खरीदा था जो कि कुछ दिनों पहले काम पर जाते समय गुम हो गया था परन्तु आज जब मेरा मोबाईल पुलिस द्वारा खोज कर वापस दिया गया तो मुझे बहुत खुशी हुई। शूटिंग स्पोर्ट्स की खिलाडी एक छात्रा ने कहा कि जब वह जीवाजी विश्वविद्यालय में आयोजित शूटिंग प्रतियोगिता में हिस्सा लेने आई थी जिसमें उसने प्रथम स्थान प्राप्त किया था इसी दिन मेरा मोबाईल गुम हो गया था जिसे आज सायबर सायबर सेल की टीम द्वारा बरामद कर मुझे प्रदाय किया गया।

ग्वालियर शहर में रहने वाली एक गृहणी ने कहा कि मेरे दो मोबाईल गुम हो गये थे जिसकी वजह से मुझे बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ा, परन्तु आज सायबर सेल की टीम द्वारा मुझे बुला कर मेरा मोबाइल प्रदाय किया गया। फैक्ट्री मे काम करने वाले एक व्यक्ति ने ग्वालियर पुलिस का धन्यवाद करते हुए कहा कि एक जूलूस के दौरान मेरा भी मोबाईल गिर गया था। जिसे आज दिनांक को मुझे वापस दिलवाया गया है। मोबाइल वापस मिलने पर सभी मोबाइल धारकों के चेहरे पर पुनः मुस्कान लौट आई। मोबाइल मालिकों द्वारा पुलिस अधिकारियों एवं सायबर सेल की टीम का धन्यवाद ज्ञापित किया गया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ग्वालियर ने सायबर सेल की टीम को उक्त सराहनीय कार्य हेतु पुरष्कृत करने की घोषणा की है।

सराहनीय भूमिका :- उक्त मोबाइलों को खोजने में सायबर सेल में पदस्थ अधिकारियों एवं कर्मचारियों की सराहनीय भूमिका रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *