ग्वालियर : पुलिस ने पंचशील नगर में हुई सनसनीखेज डकैती की घटना का पर्दाफाश कर शातिर बदमाशों को 24 घण्टे के अन्दर किया गिरफ्तार

Spread the love

ग्वालियर पुलिस ने प्रोफेसर के घर में दिन दहाड़े डकैती डालकर सोने के आभूषण व नगदी लूटने वाले शातिर बदमाशों को 24 घण्टे के अन्दर किया गिरफ्तार

ग्वालियर। 08.06.2022। सोमवार दिनांक 06.06.2022 को थाना गोले का मन्दिर क्षेत्रान्तर्गत पंचशील नगर में स्थित प्रोफेसर के घर में घुसकर उनके परिवार को बंधक बनाकर हथियार की नोक पर छः अज्ञात बदमाशों द्वारा सनसनीखेज डकैती की वारदात को अंजाम दिया गया था।

दिन दहाड़े हुई डकैती की घटना को गंभीरता से लेते हुए अति. पुलिस महानिदेशक ग्वालियर जोन श्री डी. श्रीनिवास वर्मा,भापुसे एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ग्वालियर श्री अमित सांघी,भापुसे तत्काल घटना स्थल पर पहुंचे और घटना के संबंध में फरियादिया से बातचीत कर विस्तृत जानकारी ली तथा वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा मौके पर घटना के सीसीटीव्ही फुटेज भी देखे गये, तद्उपरान्त उनके द्वारा अति. पुलिस अधीक्षक शहर (मध्य/यातायात) श्री अभिनव चौकसे,भापुसे एवं अति. पुलिस अधीक्षक शहर (पूर्व/अपराध) श्री राजेश डण्डोतिया को उक्त सनसनीखेज डकैती की घटना से संबंधित तकनीकी साक्ष्य एकत्रित कर घटना कारित करने वाले बदमाशों को मय माल के पकड़ने के लिये क्राईम ब्रांच व ग्वालियर पुलिस की टीमों को लगाने के लिये निर्देशित किया गया। डकैती की घटना का पर्दाफाश करने के लिये ग्वालियर पुलिस की 11 टीमों में 71 पुलिस अधिकारी व कर्मचारियों को लगाया गया।

प्रोफेसर के घर गाड़ी धोने का काम करने वाला ही निकला सनसनीखेज डकैती की घटना का मास्टर माइंड ।

वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशों के परिपालन में कार्यवाही करते हुये सीएसपी मुरार श्री ऋषिकेश मीणा,भापुसे एवं डीएसपी अपराध श्री रत्नेश सिंह तोमर व श्री विजय भदौरिया तथा परि. आईपीएस श्री सियाज के.एम. के मार्गदर्शन में क्राईम ब्रांच व ग्वालियर पुलिस की 11 टीमों को उक्त डकैती की घटना का पर्दाफाश करने हेतु लगाया गया। जांच के दौरान पुलिस टीमों द्वारा आसपास के क्षेत्र के 532 से अधिक सीसीटीव्ही कैमरों की फुटेज को चैक किया गया तथा प्रोफेसर के घर आने जाने वाले तथा काम करने वालों से भी पूछताछ की गई।

डकैती की घटना का पर्दाफाश करने के लिये पुलिस टीमों द्वारा आसपास के क्षेत्र के 532 से अधिक सीसीटीव्ही कैमरों की फुटेजों को चैक किया गया ।

जांच के दौरान सीसीटीव्ही देखने पर पुलिस टीम को ज्ञात हुआ कि डकैती की घटना कारित करने के लिये दो मोटर सायकिल पर आये 06 बदमाशों के अलावा कुछ और बदमाश भी घटना में सम्मलित हैं, क्योंकि घटना समय पर एमआईटीएस कॉलेज के पास एक ऑटो खड़ी दिखी और घटना के बाद वापस जाते समय दो मोटर सायकिल के अलावा इनके पीछे वह ऑटो भी जाती देखी गई थी। फुटेज में दिखे ऑटों के अस्पष्ट नम्बरों के आधार पर डीएसपी यातायात श्री नरेश बाबू अन्नोटिया के सहयोग से 76 ऑटो की सूची तैयार कर प्रत्येक से पूछताछ की गई। उसके आधार पर फुटेज में देखी गई ऑटो की तस्दीक करते हुए पुलिस टीम द्वारा ऑटो चालक को उसके घर से पकड़कर उससे घटना के संबंध में पूछताछ की तो उसके द्वारा डकैती की संपूर्ण घटना का मास्टर माइंड प्रोफेसर के घर पर काम करने वाले को बताया गया।

डकैती की घटना का पर्दाफाश करने के लिये पुलिस की 11 टीमें बनाई जाकर 71 पुलिस अधिकारी व कर्मचारियों को लगाया गया, जिन्होने लगातार काम करते हुए उक्त डकैती की घटना का पर्दाफाश किया।

पुलिस टीम को जांच के दौरान आये तथ्यो व तकनीकी साक्ष्यों के आधार पर ज्ञात हुआ कि प्रोफेसर के घर में इन्द्रानगर में रहने वाला एक व्यक्ति 8-10 साल से गाड़ी साफ करने आ रहा है, उक्त व्यक्ति पर प्रोफेसर का परिवार काफी विश्वास करता था और घटना दिनांक को भी यह सुबह प्रोफेसर के घर गाड़ी साफ करने आया था। पुलिस टीम द्वारा गाड़ी साफ करने वाले व्यक्ति को उसके घर से पकड़कर पूछताछ की गई साथ ही उसके संबंध में जानकारी एकत्रित की गई तो उसकी बदमाशों से दोस्ती होने की बात संज्ञान में आई।

मास्टर मांइड ने प्लानिंग कर ग्वालियर, करैरा तथा झांसी के कुख्यात बदमाशों से कराई थी डकैती की बारदात ।

जिस पर से पुलिस टीम द्वारा उससे घटना के संबंध में तकनीकी साक्ष्यों को आधार बनाकर पुनः पूछताछ की गई तो ज्ञात हुआ कि उक्त सनसनीखेज डकैती की घटना कारित करने के लिये इसके द्वारा ही ग्वालियर के एक बदमाश से संपर्क किया गया तो उसके द्वारा ग्वालियर के रहने वाले अपने दो अन्य साथियों को भी डकैती की योजना में शामिल किया गया। पहचाने जाने के डर से इन लोगों द्वारा डकैती की घटना स्वयं कारित न कर करैरा व झांसी के 05 कुख्यात बदमाशों को अपनी योजना में शामिल किया और योजना अनुसार प्रोफेसर के घर काम करने वाले व्यक्ति द्वारा करैरा व झांसी से बुलाये बदमाशों को घर की लोकेशन व परिजनों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराइ गई।

डकैती की घटना में शामिल 10 शातिर बदमाशों में से 05 बदमाशों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, शेष फरार आरोपियों की तलाश में पुलिस टीमें दे रही हैं लगातार दबिस।

दिनांक 06.06.2022 को योजना के अनुसार करैरा व झांसी के बदमाश दो मोटर सायकिल पर सवार होकर ग्वालियर आये और प्रोफेसर के घर काम करने वाला व्यक्ति ग्वालियर के अपने साथियों के साथ ऑटो में आया। एक स्थानीय बदमाश द्वारा इनको कट्टे व राउण्ड उपलब्ध कराये गये थे। संपूर्ण घटना में 10 बदमाशों के शामिल होने की बात संज्ञान में आई है। जिसमें से पुलिस टीम द्वारा ग्वालियर के 05 बदमाशों को उनके घर से धरदबोचा और पूछताछ में उनके द्वारा अपने साथियों के साथ मिलकर डकैती की घटना को अंजाम देना स्वीकार किया।

पकडे गये बदमाशों के पास से पुलिस टीम द्वारा लूटे गये सोने के आभूषणों में से लगभग 137 ग्राम सोने के आभूषणों व कुछ चांदी के आभूषण भी बरामद किये है तथा डकैती की घटना में प्रयुक्त एक कट्टा मय राउण्ड तथा एक मोबाइल भी जप्त किया गया है। हिरासत में लिये गये बदमाशों से पूछताछ के दौरान यह जानकारी प्राप्त हुई कि घटना में लगभग 400 ग्राम सोने के आभूषण बदमाशों द्वारा प्रोफेसर के घर से लूटे गये थे। जिसमें से लगभग 137 ग्राम सोने के आभूषण कीमती लगभग 06 लाख 86 हजार रूपये के पुलिस टीम द्वारा बरामद कर लिये गये हैं। डकैती की घटना में शामिल इनके अन्य साथियों, हथियारों व लूटे गये शेष माल के संबंध में पुलिस टीम द्वारा पूछताछ की जा रही है। ग्वालियर पुलिस की टीमें लगातार फरार बदमाशों के छिपने के ठिकानों पर दबिस दे रही हैं।

डकैती की घटना में लूटे गये सोने के आभूषणों में से लगभग 137 ग्राम सोने के आभूषण एवं चांदी के आभूषण कुल कीमती लगभग 06 लाख 90 हजार रूपये तथा घटना में प्रयुक्त एक कट्टा मय राउण्ड एवं एक मोबाइल किये बरामद।

डकैती की घटना का संक्षिप्त विवरण: दिनांक 06.06.2022 को दोपहर में थाना गोले का मन्दिर क्षेत्र के पंचशील नगर निवासी एमआईटीएस कॉलेज के प्रोफेसर के घर दो मोटर सायकिल सवार अज्ञात छः हथियारबंद बदमाशों द्वारा उनकी मां, पत्नि व बेटी को बंधक बनाकर सोने-चॉंदी के आभूषणों व नगदी की लूट की थी। उक्त सनसनीखेज लूट की वरदात का प्रकरण थाना गोले का मन्दिर में अप0क्र0 369/22 धारा 395 भादवि 11/13 एमपीडीपीके एक्ट का पंजीबद्व कर विवेचना में लिया गया था।

हिरासत में लिये गये बदमाश :-

मास्टर माइंड सहित पांच बदमाशों को पुलिस ने हिरासत में लिया।

बरामद मशरूका :-

137 ग्राम सोने के आभूषण एवं चांदी के आभूषण कुल कीमती लगभग 06 लाख 90 हजार रूपये तथा एक 315 बोर का कट्टा मय राउण्ड व एक मोबाइल।

सराहनीय भूमिका :-

उक्त सनसनीखेज डकैती का पर्दाफाश कर बदमाशों को गिरफ्तार करने में थाना प्रभारी गोले का मन्दिर निरीक्षक मिर्जा आसिफ वेग, थाना प्रभारी क्राईम निरी0 डॉ. संतोष यादव, थाना प्रभारी जनकगंज निरीक्षक आलोक परिहार, थाना प्रभारी हजीरा निरीक्षक मनीष धाकड़

क्राईम ब्रांच टीम :-

उप निरीक्षक नरेन्द्र सिसोदिया, सतीश यादव, शैलेन्द्र शर्मा, राहुल अहिरवार, अमित शर्मा, रजनी रघुवंशी, सउनि राजीव सोलंकी, प्र.आर. रामबाबू, जितेन्द्र तोमर, मुकेश चौहान, अनिल गुप्ता, मनीष चौहान, म.प्र.आर. अर्चना कंसाना, प्र.आर. विकास बाबू, भगवती सोलंकी आरक्षक गौरव आर्य, आशीष शर्मा, अरूण पवैया, रणवीर शर्मा, राहुल यादव, जितेन्द्र तुरैले, अभिषेक तोमर, देवबृत तोमर, सोनू परिहार, योगेन्द्र तोमर, सुमित शर्मा, राजीव शुक्ला, रोहित, राघवेन्द्र भदौरिया, प्रदीप यादव, रूपेश शर्मा, जैनेन्द्र गुर्जर, कपिल पाठक, राजकुमार जाट, नरवीर राणा थाना गोले का मन्दिर टीम- उनि बृजमोहन शर्मा, शिवेन्द्र कुमार, दीपेन्द्र राजावत, आरक्षक शशिकांत, भानु सिकरवार, सत्येन्द्र, गिर्राज थाना हजीरा टीम- उप निरी नरेन्द्र छिकारा, आरक्षक लबकुश, सुरेन्द्र कुशवाह थाना महाराजपुरा टीम आरक्षक कुलदीप तोमर, विजय बघेल थाना जनकगंज टीम- प्र0आर सतीश परिहार, बृजेन्द्र जाट की सराहनीय भूमिका रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *