दारोगा सस्पेंड : दवा लेकर लौट रहे बुजुर्ग से चेकिंग के नाम अभद्रता, कमरे में ले जाकर उतरवाए कपड़े

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ईमानदार कप्तानों में शुमार किये जाते हैं, जनपद में चार्ज संभालते ही उन्होंने अपने सभी अधीनस्थों को निष्पक्ष एवं ईमानदारी से कार्य करने की सलाह दी थी ।

लखनऊ / बुलंदशहर जिले के सिकंराबाद कोतवाली क्षेत्र में दनकौर रोड स्थित पुलिस चेक पोस्ट पर दरोगा द्वारा चेकिंग के नाम पर बुजुर्ग साधु के कपड़े उतरवाने और अभद्रता करने का मामला प्रकाश में आया है ।  मामले की जानकारी होने पर ग्रामीणों में आक्रोश फैल गया । मामले की शिकायत ट्विटर पर होने के बाद पुलिस के अफसर चेते ।

एसएसपी ने सीओ की जांच के बाद आरोपी दरोगा को सस्पेंड कर दिया

ककोड़ क्षेत्र के गांव अरनिया कमालपुर के शिव मंदिर पर पूजा-अर्चना करने वाले साधु बृहस्पति नाथ महाराज ने बताया कि शुक्रवार को सिकंदराबाद से दवाई लेकर साइकिल पर सवार होकर गांव लौट रहे थे । इसी दौरान दनकौर रोड स्थित चेक पोस्ट पर तैनात दरोगा और सिपाहियों ने उसे चेकिंग के नाम पर रोक प्रताड़ित किया और कमरे में ले जाकर कपड़े उतरवाए और अभद्रता की कुछ देर बाद गांव आकर पूछताछ करने की बात कह दरोगा ने साधु को छोड़ दिया । तब से ही साधु मंदिर पर गुमसुम रहने लगा ।
रविवार सुबह जब ग्रामीणों ने साधु से गुमसुम रहने के बाबत पूछा तो मामले की जानकारी होने पर ग्रामीणों में आक्रोश फैल गया । इसको लेकर यूपी पुलिस को ट्वीट कर दिया गया । ट्वीट होने के बाद डीआईजी/एसएसपी ने सीओ को जांच सौंपकर दो घंटे में रिपोर्ट मांगी । सीओ सुरेश कुमार ने गांव पहुंच साधु से पूछताछ की और अपनी रिपोर्ट एसएसपी को सौंप दी । सीओ की जांच रिपोर्ट के बाद एसएसपी ने तत्काल प्रभाव से दरोगा पवन कुमार को निलंबित कर दिया है ।

बुलंदशहर एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने बताया :-

मामला संज्ञान में आने पर सीओ सिकंदराबाद से गहनता से जांच कराई गई । जांच में दरोगा पवन कुमार दोषी पाए गए । जिसके बाद से तत्काल प्रभाव से दरोगा को निलंबित कर विभागीय जांच कराई जा रही है ।
बता दें कि वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ईमानदार कप्तानों में शुमार किये जाते हैं बुलंदशहर जनपद में चार्ज संभालते ही उन्होंने अपने सभी अधीनस्थों को निष्पक्ष एवं ईमानदारी से कार्य करने की सलाह दी थी ।
इससे पहले भी जैसे ही पुलिस के भ्रष्टाचार एवं अभद्र व्यवहार की शिकायत एसएसपी को मिली उन्होंने तत्काल जांच कराकर भ्रष्ट पुलिसकर्मियों एवं थाना प्रभारियों पर सख्त कार्यवाही की है तो वहीं कई पुलिसकर्मियों पर एफआईआर भी कराई है । जिससे एसएसपी की ईमानदारी की चर्चा से भ्रष्टाचारियों में भय व्याप्त है । एसएसपी संतोष कुमार सिंह की ईमानदारी की जनपद में खूब सराहना हो रही है। एसएसपी संतोष कुमार का कहना ही कि जनपद पुलिस ईमानदारी एवं निष्पक्ष होकर कार्य करे फरियादियों से अच्छा व्यवहार करे अपराधियों से सख्ती से निपटे जिससे पुलिस की छवि समाज मे बेहतर बन सके ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.